Dukhi Shayari, sad zindagi se dukhi shayari

Sad Dukhi Shayari in hindi

दुःख, दर्द, तकलीफ, सज़ा ये तो ज़िन्दगी का हिस्सा हैं
लेकिन मेरी ज़िन्दगी में हर पल यही किस्सा हैं

dukh, dard, takleef, saza ye toh zindagi ka hissa hai
lekin meri zindagi mein her pal yahi kissa hai

 

zindagi se dukhi shayari

उम्मीद ज़िन्दगी से थी तो
ज़िन्दगी से दुःख मिला
सुःख का तो कोई पता न था
अब तो अपनों से भी दुःख मिला

ummeed zindagi se thi toh
zindagi se dukhi mila
sukh ka toh koi pata na tha
ab toh apno se bhi dukh mila

 

pno se dukhi shayari

अपनों से दुःखी होने की भी वजह हैं
लेकिन अपनों से नाराज़ रहना मतलब
खुद पर ही एक सजा हैं

apno se dukhi hone ki bhi wajah hai
lekin apno se naraz rehna matlab
khud per he ek saza hai

 

dil dukhi hai shayari

दिल दुःखी हैं उनकी वजह से
लेकिन हम उनको दोषी नहीं मानते
इसलिए हम तो नाराज़ हैं अपने आप से

dil dukhi hai unki wajah se
lekin hum unko doshi nahi maante
isiliye hum toh naraz hai apne aap se

 

dosti dukhi shayari

ऐ दोस्त तेरी नाराज़गी भी जाएज़ हैं
अब तुझे मनाना मेरा फ़र्ज़ हैं
अगर तुझे मैं मना न सका तो
ये दोस्ती मुझ पर क़र्ज़ हैं

ae dost teri narazgi bhi jayez hai
ab tujhe manane mera farz hai
agar tujhe main mana na saka toh
ye dosti mujh per karz hai

 

हम ने ऐसी खता करदी अनजाने में
अब तो बहुत शर्म आती हैं माफ़ी मांगने में

hum ne aisi khata kardi anjaane mein
ab toh bahut sharm aati hai maafi maangne mein

 

dukhi man shero shayari

ज़िन्दगी ने इतना दर्द दिया के
अब ख़ुशी नफरत होने लगी

zindagi ne itna dard diya ke
ab khushi nafrat hone lagi

 

वादे तो बड़ी आसानी से करते हैं

लेकिन इसे निभाने से डरते हैं

waade toh badi aasani se karte hai
lekin ise nibhane se darte hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *