AliShayari.in

AliShayari.in is all about Shayaris

gam bhari shayari mere toote dil ke sath dard mai

gam bhari shayari. गम भरी शायरी hindi me. Read the best Shayari lines on Gam. Dard bhari gam bhari shayari list in hindi, english. गम भरी शायरी mere toote dil ki shayari gham ke sath. dard bhari gam shayari in hindi 2 lines, painful shayari with sad lines with deep meaning. zindagi me gam mila shayari. gam shayari dil se in hindi.

Gam Bhari Shayari

gam bhari shayari

 

gam bhari shayari ग़म भरी शायरी

 

जब मैं ने तुझ से मुँह मोड़ लिया
जिंदगी ने भी मुझसे मुँह मोड़ लिया

jab mai ne tujh se muh mod liya
zindagi ne bhi mujhse muh mod liya

 

मेरे आँसू देख कर भी अनजान हो गए
ऐसा लगा हम अपने आप से ही जुड़ा हो गए

mere aasu dekh kar bhi anjaan ho gaye
aisa laga hum apne aap se he judaa ho gaye

 

जी भर के रोने दे आज मुझे उसकी याद में
वो तो खुश होंगे किसी और के साथ में

jee bhar ke rone de aaj mujhe uski yaad me
vo to khush hoge kisi aur ke sath me

 

gam bhari shayari 2 lines

 

दर्द से मोहब्बत हो गयी हैं मुझे
दर्द देने की आदत हो गयी तुझे

dard se mohabbat ho gayi hai mujhe
dard dene ki aadat ho gayi tujhe

 

कुछ पल की जिंदगी में भी इतना दर्द हैं
हम रोते रहे और लोग कहते रहे की मर्द हैं

kuch pal ki zindagi me bhi itna dard hai
hum rote rahe aur log kehte rahe ki mard hai

 

उन्हों ने मोहब्बत का रास्ता दिखाया
फिर क्यों दर्द की मंज़िल से मिलाया

unho ne mohabbat ka raasta dekhaya
fir kyo dard ki manzil se milaya

 

जिंदगी ने मुझे अपना दुश्मन बना लिया होगा
हर पल दर्द से ही मुलाकात होती हैं
अब तो दर्द भी हम से बेज़ार हो गया होगा

zindagi ne mujhe apna dushman bana liya hoga
her pal dard se he mulakat hoti hai
ab toh dard bhi hum se bezaar ho gaya hoga

 

gam bhari shayari in hindi

 

सिर्फ एक बार पलट कर देखो मुझे
शायद इस दिल का दर्द कुछ कम हो जाये

sirf ek baar palat kar dekho mujhe
shayad is dil ka dard kuch kam ho jaaye

 

लोग पागल कहने लगे अब तो मुझे
फिर भी कोई फर्क न पड़ा तुझे

log pagal kehne lage ab toh mujhe
fir bhi koi fark na pata tujhe

 

हर पल याद आती हैं मुझे तेरी
फिर आँसुओ के साथ मुलाकात होती हैं मेरी

her pal yaad aati hai mujhe teri
fir aasuo ke sath mulakat hoti hai meri

 

dard bhari gam bhari shayari

 

अब कोई मंज़िल दिखाई नहीं देती
उस रास्ते पर चल पड़े थे हम
जिसकी कोई मंज़िल नहीं होती

ab koi manzil dekhaye nahi deti
us raaste per chal pade the hum
jiski koi manzil nahi hoti

 

गम के आँसू उन्हें दिखाई नहीं देते
मोहब्बत की आग में जल रहे हैं हम
क्यों हमें एक पल के लिए भी सहारा नहीं देते

gam ke aasu unhe dekhaye nahi dete
mohabbat ki aag me jal rahe hai hum
kyo hum ek pal ke liye bhi sahara nahi dete

 

कहने को तो बहुत बातें हैं
पता नहीं कैसे बया करू
बस आँसू पीते हैं हम दर्द के
इस दिल का हाल कैसे बया करू

kehne ko toh bahut baate hai
pata nahi kaise bayaa karu
bas aasu peete hai hum dard ke
is dil ka haal kaise bayaa karu

 

याद आती हैं, सीना जलता हैं
दर्द बड़ता हैं, क्या करू
उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता हैं

yaad aati hai, seena jal hai
dard badta hai, kya karu
unhe koi fark nahi padta hai
-by gam bhari shayari

 

For more also read about Narazgi Shayri, Shayri and Mere Pyar ki kadar nahi Shayari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 − 3 =

AliShayari.in © 2017 Frontier Theme