Khwab Shayari, sms, status, tute khwab shayari

tute khwab shayari

टूटे ख्वाब तो दिल दुखता है
किसी से कुछ भी नहीं कहता
लेकिन अकेले में काफी रोता है

tute khwab toh dil dukhate hai
kisi se kuch bhi nahi kehta
lekin akele me kaafi rota hai

 

adhura khwab shayari

कुछ ख्वाब थे जो अधूरे रह गए
वो ख़ामोशी में ही सब कुछ कह गए
इंतज़ार तो बहुत किया हमने
लेकिन अब हम अकेले ही रह गए

kuch khwab the jo adhure reh gaye
wo khamoshi me he sab kuch keh gaye
intezaar toh bahut kiya hum ne
lekin ab hum akele he reh gaye

 

haseen khwab shayari

बहुत हसीन ख्वाब देखे थे मैंने तेरे साथ
तू ने भी वादा किया था मुझ से
शायद तू भूल गयी वो कसम वाली बात

bahut haseen khwab dekhe the maine tere sath
tu ne bhi wada kiya tha mujh se
shayad tu bhul gayi wo kasam waali baat

 

2 lines khwab shayar

मेरा ख्वाब तुझ से शुरू होता है
और कभी ख़त्म नहीं होता है

mera khwab tujh se shuru hota hai
aur kabhi khatam nahi hota hai

 

khwab tut gaye shayari

ख्वाब टूट गए, अपने भी रूठ गए
जो देखे थे सपने तेरे साथ वो भी टूट गए
वक़्त के साथ-साथ सब कुछ बदल गया
नाराज़ होकर सब हमसे दूर चले गए

khwab tut gaye, apne bhi ruth gaye
jo dekhe the sapne tere sath wo bhi tut gaye
waqt ke sath-sath wo bhi tut gaye
naraz hokar sab humse dur chale gaye

 

romantic khwab shayari

तेरे साथ हम ख्वाबो की दुनिया में जीते हैं
जब भी तू दूर होती हैं, हम हर पल मरते हैं
कही ये ख्वाब अधूरे न रह जाये
ये सोच कर अपने आप में रोते हैं

tere sath hum khwaabo ki duniya me jeete hai
jab bhi tu ek dur hai, hum her pal marte hai
kahi ye khwab adhure na reh jaye
ye soch kar apne ap me rote hai

 

khwab haqeeqat shayari

ख्वाब और हक़ीक़त में बस इतना फर्क हैं
लोग ख्वाब में जीते हैं
हक़ीक़त में तड़प ते हैं

khwab aur haqeeqat me bas itna fark hai
log khwab me jeete hai
haqeeqat me tadapte hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *