Pyar lafzo mein kahan shayari, tum ho kahan shayari

pyar lafzo mein kahan shayari, status

प्यार लफ्ज़ो में कहाँ नहीं जा सकता
तेरे साथ गुज़ारे वो हर पल मैं भूल नहीं सकता
अब चाहे कुछ भी हो जाये
अब तो तेरे बिना मैं रह नहीं सकता

pyar lafzo mein kaha nahi ja sakta
tere saht guzare wo her pal main bhool nahi sakta
ab chahe kuch bhi ho jaaye
ab to tere bina mai ren nahi sakta

 

tere jaisa yaar kahan shayari, status

दोस्त तो बहुत मिले लेकिन तुझ जैसा यार नहीं
मेरे लिए तेरी दोस्ती से बड कर और कुछ नहीं

dost toh bahut mile lekin tujh jaisa yaar nahi
mere liye teri dosti se badd kar aur kuch nahi

 

tum ho kahan shayari, messages

कब तक तुझे ढूँढ़ता रहु
कब तक तेरा इंतज़ार करता रहु
क्या करू अब जीना बेकार लगता हैं
बता तू कब तक ऐसे ही मरता रहु

kab tak tujhe dhoondta rahu
kab tak tera intezaar karta rahu
kya karu ab jeena bekar lagta hai
bata tu kab tak aise he marta rahu

 

kahan gaya wo din shayari

कहा गया वो दिन जब तेरा हाथ मेरे हाथो में था
जब मैं अकेला न था, मैं अपनी ज़िन्दगी के साथ था

kaha gaya wo din jab tera hath mere hatho mein tha
jab mai akela na tha, main meri zindagi ke sath tha

 

इज़हारे इ मोहब्बत करने की हिम्मत नहीं होती
बता दे ऐ खुदा क्यों वो मेरी नहीं होती

izhare-e-mohabbat karne ki himmat nahi hoti
bata de ae khuda kyo wo meri nahi hoti

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *