AliShayari.in

AliShayari.in is all about Shayaris

zakhmi dil Shayari on dard, bewafa, sad, new sher in hindi

zakhmi dil shayari, ज़ख़्मी दिल शायरी. Top Collections of New sad zakhmi dil ki dard sher shayari in hindi, english 2 lines. Once in a life every single person faces this kind of problems like rejection, fraud, heart broken, ignorance and much more, as the end result our heart break and we will be depressed a lot. It’s better to keep quite and try to ignore such kind of things.

zakhmi dil Shayari

zakhmi dil Shayari

 

मेरे दिल का आलम कुछ ऐसा हैं
नहीं पता क्या हुआ इस दिल को
किसी और के बारे में नहीं सोचता
बस हर पल रोता हैं याद करके तुझको

mere dil ka aalam kuch aisa hai
nahi pata kya hua dil ko
kisi aur ke bare me nahi sochta
bas her pal rota hai yaad karke tujhko

 

ज़ख्म देकर चले गए वो तो
ज़ख्मी कर गए मुझको
सच्चे दिल से चाहा था तुझको
फिर भी धोखा दिया तू ने मुझको

zakhm dekar chale gaye vo toh
zakhmi kar gaye mujhko
sacche dil se chaha tha tujhko
fir bhi dhoka diya tu ne mujhko

 

New zakhmi dil shayari in hindi

 

कुछ पल का साथ था तेरा
रास्ते में तूफ़ान तो नहीं आया
फिर कैसे हाथ छूटा मेरा ‘

kuch pal ka sath tha tera
raaste me toofan toh nahi aaya
fir kaise hath choota mera

 

सीना जलता हैं दर्द बढ़ता हैं
लेकिन क्या करू फिर से प्यार करने से डरता हैं

seena jalta hai dard badta hai
lekin kya karu fir se pyar karne se darta hai

 

sad zakhmi dil shayari

 

ऐ दिल बता क्या हुआ तुझे
हर पल रोता हैं क्यों कुछ बताता नहीं मुझे

ae dil bata kya hua tujhko
her pal tota hai kyo kuch batata nahi mujhe

 

शिकायत अपनों से हैं परयो से नहीं
अपना बोल कर धोखा देते हैं
हम तो अब अपनों के भी नहीं

shikayat apno se hai parayo se nahi
apna bol kar dhoka dete hai
hum toh ab apno ke bhi nahi

 

zakhmi dil bewafa shayari

 

धोखे के नाम पर बेवफ़ाई की तुमने
फिर भी सब कुछ स्वीकार कर लिया हमने

dhokhe ke naam per bewafai ki tumne
fir bhi sab kuch swekar kar liya humne

 

बेवफा हम नहीं, वो हैं, लेकिन
अब ज़ख्मी वो नहीं, हम हैं

bewafa hum nahi, vo hai, lekin
ab zakhmi vo nahi, hum hai

 

zakhmi dil dard shayari

 

दर्द देकर, दर्द का मतलब पूछते हो
जिंदगी का मज़ाक बनाकर, हस्ते हो

dard dekar, dard ka matlab puchte ho
zindagi ka mazzak banakar haste ho

 

एक ऐसी हवा आयी जो सब कुछ तबाह कर गयी
अपनों को अपनों से जुदा कर गयी

ek aisi hawa aayi jo sab kuch tabah kar gayi
apno ko apno se juda kar gayi

 

zakhmi dil ki shayari hindi me

 

पहले इसे दिल कहते थे
अब इसे ज़ख्मी कहता हैं

pehle ise dil kehte the
ab ise zakhmi kehte hai

 

zakhmi dil sher shayari

 

प्यार के रास्ते पर ज़रा सँभल कर चलना
यहाँ जो रास्ता सीधा लगता हैं
वही गलत मंज़िल पर ले जाता हैं

pyar ke raaste per zara sambhal kar chalna
yaha jo raasta seedha lagta hai
wahi galat manzil per le jata hai
-by zakhmi dil shayari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

AliShayari.in © 2018